लेकिन बीजेपी पूरी तरह निर्वस्त्र हो गई।

“अजित पवार ने आखिरी क्षणों में अपना वस्त्रहरण रोक लिया, लेकिन बीजेपी पूरी तरह निर्वस्त्र हो गई।बहुमत का आंकड़ा न होने के बावजूद फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ली। यह बीजेपी का पहला अपराध है। वहीं, अजित पवार से समर्थन लेते ही उन पर लगे भ्रष्टाचार के सारे आरोप सिर्फ 4 घंटे में ही हटा दिए गए। यह बीजेपी का दूसरा अपराध है। इस अपराध के लिए मुंबई के उस राजभवन को चुना गया,जहां संविधान की रक्षा होनी चाहिए, लेकिन संविधान के संरक्षकों ने इस अपराध को कवच पहना दिया।”

【सामना】
https://www.facebook.com/profile.php?id=100005462748370

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *