तब्लीगी जमात- जो इस्लाम के पाक साफ उसूल को अपने समुदाय में पहुचाये।

जुबान की हेराफेरी से इस मुल्क की बड़ी आबादी खौफ में चली गयी है । जेहाद , मरकज , तब्लीगी , जमात , वगैरह वगैरह ।

तब्लीगी जमात कहते हैं एक ऐसे समुदाय को जो इस्लाम के पाक साफ उसूल को अपने समुदाय में पहुचाये।

ताव मत खाइए अस्लबात जान लीजिए ।

‘ इस्लाम दुनिया का सबसे नया और नायाब धर्म है जो सामूहिकता के जीवनदर्शन वकालत ही नही करता बल्कि उसे एक सलीका देता है । सच बात तो यह है कि यह निराकार की विस्तृत आस्था है । कुल 1400 साल हुए हैं इस धर्म की यात्रा को । इसमे भी वे तमाम मर्ज हैं जो कालांतर में उस हर धर्म मे उपज जाता है जो अपने को परिमार्जन नही करते बल्कि जड़ हो जाते हैं ।

मौजूदा घटनाक्रम जो करोना के लपेटे से बाहर जनता में प्रचारित किया गया इस नालायक मीडिया और वाचाल कनफूसियों द्वारा की गई ,

कहा जा रहा है – कोरोना तब्लीगी जमात का जेहाद है । तुर्रा यह कि इस विषय पर एक भी जिम्मेदार जगह से बयान नही है । न संगठन की तरफ से , न ही सरकार की तरफ से । प्रशासनिक ओहदे भी इस विषय पर खामोश बैठे हैं ।

सरकार से केवल एक मांग है , मुल्क की भलाई के लिए । तब्लीगी जमात , उसके मरकज को लेकर एक स्वेत पत्र प्रकाशित कर इसकी खुली जांच कराए । वरना यह अफवाह जो अभी सियासत के लिए खेली जा रही है , समाज के लिए घातक न बन जाय ।
चंचल दादा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *