अमेरिका और ईरान

अमेरिका और ईरान

दो ऐसे देश है जो आज एक दूसरे के घोषित शत्रु देश है।

शायद ईरान भी इतना सक्षम है या अमेरिका कमजोर हो चुका है, नहीं तो दोनों देशों में इंसान बसते है।

दुश्मनी के बीच आज दोनों देशों ने कैदियों के और जासूसों के नाम पर एक दूसरे से अपने नागरिकों की अदला बदली की।

क्या पिद्दी भाई पाकिस्तान को हम इतना भी दबाव नहीं डाल सकते या “चाहते ही नहीं है”

कि कुलभूषण जाधव के लिए कोई रास्ता बनाया जा सके।।
Pramod Pahwa

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *